Posts in Life

परीक्षा

परीक्षा

हम सबका ऐसा सोचना है कि परीक्षा के बल विद्यालय जीवन में ही होती है। परंतु विद्यार्थी चाहे विद्यालय में शिक्षा ग्रहण करता हो या फिर किसी विश्वविद्यालय में परीक्षा उसका एक अभिन्न अंग होता है। पूरे साल में किसी विद्यार्थी ने क्या किया क्या नहीं किया क्या कितना उसे समझ आया इन सब का आकलन करना ही परीक्षा का मुख्य उद्देश्य होता है। सच पूछिए तो केवल पूरे साल की विद्यार्थी के ज्ञान को आप इनको ही परीक्षा के रूप में रखा जाता है,
यह विद्यार्थी के ज्ञान का आकलन का एक तरीका मात्र है।       

परंतु आज के समय में विद्यार्थियों के मन में परीक्षा का एक ऐसा डर बैठा हुआ है, कि उस डर की वजह से न जाने कितने ही विद्यार्थी मानसिक तौर से बीमार हो रहे हैं।
आज के समय में मानसिक बीमारियों की बहुत बड़ी बाजार परीक्षा का डर भी है। 

परीक्षा में अपने आप में कोई डर होने का मतलब नहीं है परंतु हम जब प्रतिस्पर्धा पर आते हैं विद्यार्थी पर जबरदस्ती का प्रभाव डालते हैं और किसी दूसरे की तरह होने की चाह उस विद्यार्थी को मानसिक व्याधियों से ग्रस्त कर देती है। हर विद्यार्थी की अपनी एक क्षमता होती है और उसी क्षमता की पहचान के लिए ही परीक्षा निर्धारण किया गया है।  हर बार परीक्षा का अर्थ केवल इतना है कि विद्यार्थी अपनी क्षमता को जाने और अपने आप से प्रतिस्पर्धा करें और अगली बार अपनी पिछली क्षमता से अच्छा प्रदर्शन करें और वह अपनी कमियों को जान सके अपनी गलतियों को सुधार सकें। पिछली परीक्षा में की गई अपनी गलतियों को सुधारने के लिए परीक्षा के परिणाम दिए जाते हैं।

परंतु किसी भी विद्यार्थी परीक्षा में आए उसके अंको के माध्यम से ही जांचा नहीं जा सकता हर एक विद्यार्थी या हर एक बालक किसी न किसी एक विषय में अच्छा होता है। या फिर  ऐसा कहा जाए कि हर कोई विद्यार्थी हर एक विषय में अच्छा नहीं होता हर किसी की अपनी पसंद वह अपनी इच्छाएं होती है जिस विषय में विद्यार्थी की इच्छा अच्छी है इच्छा शक्ति रखती है उस विषय को वह जल्दी और आसानी से सीख सकता है।

  परीक्षा केवल विद्यार्थियों के लिए ही नहीं परंतु यह तो प्रत्येक मनुष्य के लिए जीवन के हर मोड़ पर देखने को मिलती है। समय-समय पर मनुष्य को परीक्षा की घड़ी का सामना करना पड़ता है। और उनसे निकलने के लिए मनुष्य को नए-नए तरीकों से कोशिश करनी पड़ती है यह पूरा जीवन कई पड़ाव पर परीक्षाएं लाता है।

Written by Pritam Mundotiya

जिंदगी के सवाल ओर जवाब

Hi all these are few questions I’m asking to you please answer to these all question that’s kind of a conversation between you and me

1. Name
नाम:
Answer
मेरा नाम रोहित गोयल है

2
School/collage/university
स्कूल / महाविद्यालय / विश्वविद्यालय
Answer
केंद्रीय विद्यालय में पढ़ा हूं

3
Your age ?
आपकी उम्र :
Answer
मेरी उम्र 35 साल है

4
What you do for survival ?
अस्तित्व के लिए आप क्या करते हैं?
Answer
मै एक व्यवसायिक हूं

5
Do you like traveling ??
क्या आप घूमना पसंद करते है ?
Answer
हां घूमना मुझे बेहद पसंद है

6
What inspire you most in your life ??
आपको अपने जीवन में सबसे ज्यादा क्या प्रेरणा देता है ??
Answer
मेरा जीवन ही मेरी प्रेरणा का स्रोत है

7
What you wanna be in your life ??
आप अपने जीवन में क्या बनना चाहते हैं ??
Answer
सन्यासी

8
Am I who I want to be ?
क्या मैं वह बनना चाहता हूं जो मैं बनना चाहता हूं?
Answer
जी हां , आप वहीं होते है जहां आप होना चाहते है क्युकी आप आज जहां भी वो अपने विचारो के कारण ही है ओर स्तिथि वह परिणाम है।

9
What are you so afraid of ?
आपको किस बात का इतना भय है ?
Answer
यह कहना मुश्किल है कि मुझे किस बात का भय है  वैसे कहीं ना कहीं भीतर भय जरूर है। ओर यह भय स्तिथि ओर आने वाली परिस्थिति का हो सकता है। जो सिर्फ भीतर चल रही घटनाओं के कारण है वरन् मुझे भय किसी भी बात नहीं है।

10
What would you be doing if you had six month to live ?
अगर आपके पास रहने के लिए छह महीने हैं तो आप क्या कर रहे होंगे?
Answer
कुछ भी ख़ास नहीं मैं लगातार मौत के स्वागत की तैयारी कर रहा हूं

11
What do you hate ?
आप किससे घृणा करते हैं ?
Answer
झूठ , दोगले चेहरे ,

12
Are you using your strength ?
क्या आप अपनी ताकत का इस्तेमाल कर रहे हैं?
Answer
हा बिल्कुल , मै लगातार अपने जीवन के लक्ष्य को और अग्रसर हूं

13
What will happen if you continue to live this way ?
अगर आप इसी तरह से जीते रहेंगे तो क्या होगा?
Answer ;
यह कहना मुश्किल है क्युकी स्तिथि ओर परिस्थती दोनों लगातार बदल जाती है फिर भी यदि इसी तरह जिऊंगा तो मैं एक सन्यासी अवश्य बनूंगा।

14
When is the last time you’ve gone outside of your comfort zone ?
आखिरी बार आप अपने कम्फर्ट जोन से बाहर कब गए हैं?
Answer
जब मैने अपने पिता जी दुकान पर आना शुरू किया और उसके 6 महीने बाद मैने संडे बुक बाज़ार में पटरी लगाई वो सबसे अलग समय था मेरे लिए

15
Is your health helping or harming your purpose in your life ?
क्या आपका स्वास्थ्य आपके जीवन में आपके उद्देश्य की सहायता या हानि कर रहा है?
Answer
मेरा स्वास्थ्य बिल्कुल ठीक नहीं है मुझे पर को बीमारी है जिसकी वजह मुझे डर लगता है यह मेरे एक डर का भी कारण है जैसा आपने पहले पूछा , ओर यह मुझे लगातार हानि करवाता है। मेरे घूमने , मेरे कार्य और आदि काफी जगह

16
Are you moving in the right direction to achieve success in your life
क्या आप अपने जीवन में सफलता प्राप्त करने के लिए सही दिशा में आगे बढ़ रहे हैं।
Answer
हां मैं पिछले 18 सालो से एक ही दिशा में अग्रसर हूं

17
What do you do for fun ?
आप मस्ती के लिए क्या करते हो ?
Answer
मैं खुद के साथ बाते करता हूं , लोगो को देखता हूं , उन्हें घूरता हूं , यह मुझे बहुत आनन्द देता है। परन्तु किसी को घूरना, देखना बहुत खतरनाक भी साबित हो जाता है कई बार

18
How much do you worry about what others think ?
आप इस बारे में कितना चिंतित हैं कि दूसरे क्या सोचते हैं?
Answer
मुझे इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता लोग क्या सोचते है यह उनका दिमाग है , उनकी सोच है उन्हें को करना है करे
मै जो पहनना चाहता हूं पहनता हूं , घूमता हूं , खाता हूं , करता हूं

19
What have been your biggest mistakes ?
आपकी सबसे बड़ी गलतियाँ क्या रही हैं?
Answer
गलतियां तो बहुत सारी हुई लेकिन मै उन्हें गलतियां नहीं कहता क्युकी उन्होंने ही मुझे जिंदगी को जीने का सही तरीका है बताया।

20
Your favourite place ?
आपकी पसंदीदा जगह कौनसी है ?
Answer
मेरी कोई पसंदीदा जगह नहीं है बस इस धरती पर मुझे एक  छोटी सी कुटिया मिल जाए जहां पर शांति हो कोई आता जाता ना हो , ना कोई शोर हो और में अपना सम्पूर्ण जीवन ध्यान में व्यतीत कर सकू।

21
Your favourite food ?
आपका पसंदीदा खाना क्या है।
Answer
राजमा चावल

22
Your achievements in life ??
जीवन में आपकी उपलब्धियाँ ?
Answer
मैं जीवन के अस्तित्व में हूं यह उपलब्धि है और मै जीवन को जी रहा हूं तथा मौत के लिए तैयारी कर रहा हूं।

23
Where you wanna see yourself after 10 year ?
आप आज से 10 साल बाद स्वयं को कहां देखते है?
Answer
मै सन्यासी के रूप में देखता हूं

24
What you think of life ?
आप जिंदगी के बारे में क्या सोचते है ?
Answer
जीवन सम्पूर्ण आनंद है जो पूर्ण है इससे ज्यादा सुखद कुछ और हो ही नहीं सकता हम बहुत सौभाग्यशाली है कि हमें जीवन मिला है और हम जितना भी ईश्वर का धन्यवाद करे इतना ही काम है।

25
Do you believe in religion ??
Yes/no
क्या आप धर्म में विश्वास रखते है ?
Answer
नहीं , क्युकी मै धर्म का वर्गीकरण नहीं समझता सिर्फ धर्म एक ही हो सकता है वह है मानव , स्व धर्म इसके विपरीत कुछ नहीं।

26
Who is your role model ??
आपका रोल मॉडल कौन है ??
Answer
स्वयं मै जितना आप स्वयं से सीख सकते है उतना आपको दूसरा कोई भी नहीं सीखा सकता इसलिए मेरा कोई रोल मॉडल नहीं है।

27
What changes you wanna see in life ??
आप जीवन में क्या बदलाव देखना चाहते हैं ??
Answer
मै कोई बदलाव नहीं देखना चाहता जीवन स्वयं में परिवर्तनशील है इसलिए मै क्यों इसमें हस्तक्षेप करू

28
Are you happy with life ??
Yes/No
क्या आप जिंदगी के साथ खुश है ?
Answer
हां मै जिंदगी के साथ खुश हूं क्युकी मेरे पास दुखी होने का कोई कारण नहीं है।

29
How you keep yourself happy
खुद को खुश रखने के लिए आप क्या करते है ??
Answer
यह ब्रह्माण्ड लगातार सकारात्मक शब्दों को हमारी ओर फेकता है ओर में उन्ही शब्दों को पकड़ने में लगा रहता हूं हू जो मुझे बहुत खुशी देती है।

30
What you want to achieve in your life ?
आप क्या achieve करना चाहते है जिंदगी में ??
Answer
वैसे तो जीवन में कुछ ऐसा नहीं है जिसे पाने के लिए मै बहुत पागल हो जाऊ इसलिए मै जियासा हूं वैसा ही रहना चाहता हूं।

31
What is your weekness ?
आपकी कमजोरी क्या है ???
Answer
जीवन से प्रेम

32
What’s your strength ?
आपकी ताकत क्या है ?
Answer
जीवन से प्रेम

33
What makes you worried in your life
आप किस चीज या बात से डरते है
Answer
नकारात्मक विचारो से

34
Whats your philosophy in life ?
जीवन में आपका दर्शन क्या है?
Answer
जीवन सुखद आनंद है इसे पूर्णतय जिओ ओर जीने दो

35
What’s the one thing you would like to change about yourself
वह कौन सी चीज है जिसे आप अपने बारे में बदलना चाहेंगे।
Answer
मैं खुद कुछ नहीं बदलना नहीं चाहता एक समय पर वह स्वेम बदल जाएगी

36
Are you religious or spiritual ??
क्या आप धार्मिक या आध्यात्मिक हैं ??
Answer
मैं दोनों में से अब कुछ भी नहीं हूं यह दोनों मेरे लिए मात्र एक शब्द है जिनका कोई अर्थ नहीं है

37
Do you consider yourself on introvert or extrovert ?? Why ?
क्या आप खुद को अंतर्मुखी या बहिर्मुखी मानते हैं ?? क्यों?
Answer
अंतर्मुखी , क्युकी बाहर कुछ ऐसा है ही नहीं जिसकी वजह से आकर्षित हुआ जाए , बाहर शोर है , भीतर शांति है

38
What was the best phase in your life ?
आपके जीवन में सबसे अच्छा चरण क्या था?
Answer
मेरा सम्पूर्ण जीवन ही एक सार रहा है ना अच्छा ना बुरा

39
What was the worst phase in your life ?
आपके जीवन का सबसे बुरा दौर क्या था?
Answer
जीवन का कोई दौर बुरा नहीं हर एक दौर एक नई शुरुआत को जन्म देता है इसलिए बुरा समय जैसा कुछ नहीं रहा मेरे जीवन में

40
What’s your favourite book/movie of all time and why did it speak to you so much ?
आपकी सभी समय की पसंदीदा पुस्तक / फिल्म क्या है और इसने आपसे इतनी बात क्यों की?
Answer
मेरी जिंदगी का एक विचार है
” Do not read books just read yourself”
मै किताब नहीं पढ़ता मै स्वयं को पढ़ता हूं और स्वयं के अनुभव से ही सीखता हूं , मै खुद से ही बहुत सारी बताए करता हूं।

41
Are you more into looks or brain ??
क्या आप लुक या ब्रेन में अधिक हैं?
Answer
आप कह सकते है चेहरा आकर्षण है परन्तु मस्तिष्क आपको जीवन की उन उचाईयो तक ले जाता है जहां तक चेहरा कभी नहीं पहुंचा सकता इसलिए में सिर्फ मस्तिष्क को ही महत्व देता हूं।

42
How do you feel about sharing your password with your partner ?
आप अपने साथी के साथ अपना पासवर्ड साझा करने के बारे में कैसा महसूस करते हैं?
Answer
मेरा कोई पार्टनर नहीं है और अगर होता भी तो मुझे कोई आपत्ति नहीं होती क्युकी जीवन भरोसे पर ही कायम होता है।
43
When do you think a person is ready for marriage
आपको कब लगता है कि कोई व्यक्ति शादी के लिए तैयार है।
Answer
शादी एक जिम्मेदारी है , दो अस्तित्व के लिए इसलिए हमेशा काबिल होने पर ही यह निर्णय लेना चाहिए। जबरदस्ती नहीं क्युकी शादी कोई महत्वपूर्ण विषय नहीं है जितना इस समाज ने बना दिया है।

44
What kind of parents do you think you will be ?
आपको लगता है कि आप किस तरह के माता-पिता होंगे?
Answer
इस विषय मे मेरी कोई राय नहीं क्युकी मै आजीवन शादी नहीं करूंगा।

45
Have you ever lost someone close to you ?
क्या आपने कभी अपने किसी करीबी को खोया है?
Answer
मेरे लिए यह प्रश्न नहीं है क्युकी मैने कभी किसी को इतना करीब समझा ही नहीं जिसके खोने के दुख असहनीय हो।

46
What’s an ideal weekend for you ?
आपके लिए एक आदर्श सप्ताहांत क्या है?
Answer
मेरे लिए हर दिन उत्सव है कोई सप्ताहांत महत्व नहीं रखता

47
Do you judge a book by it’s cover ??
क्या आप इसे कवर द्वारा एक पुस्तक का न्याय करते हैं ??
Answer
नहीं , क्युकी यह अन्याय है

48
Do you believe in second chance ?
क्या आप दूसरे मौके पर विश्वास करते हैं?
Answer
जी बिल्कुल जीवन पुनः अवसर जरूर देता है।

49
What are you most thankful for ?
आप किसके लिए सबसे आभारी हैं?
Answer
अपने माता पिता क्युकी मुझे यह जीवन मिला जिसमे मुझे प्रभु चिंतन करने का अवसर प्राप्त हुआ।

50
What’s the one thing that people always misunderstand you ?
एक बात क्या है जो लोग हमेशा आपको गलत समझते हैं?
Answer
यह लोगो की सोच है उनके समझने ओर न समझने से मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता

51
What did you past relationship teach you ?
पिछले रिश्ते ने आपको क्या सिखाया?
Answer
जीवन एक उत्सव है इसे पूर्णतय के साथ जिओ

52
If a genie granted you 3 wishes right now, what would you wish for ?
अगर किसी जिन्न ने आपको अभी 3 इच्छाएं दी हैं, तो आप क्या चाहते हैं?
Answer
वैसे तो मेरी इच्छाएं अब शेष नहीं है फिर भी दूसरो के लिए सभी लोग खुश रहे भूखे ना रहे , स्वस्थ रहे।

53
What’s your biggest regret in life ?
जीवन में आपका सबसे बड़ा पछतावा क्या है?
Answer
मुझे किसी भी बात का कोई पछतावा नहीं है बल्कि मै धन्यवाद देता हूं परमेश्वर का की मुझे यह जन्म दिया जिसमे मै प्रभु चिंतन , मनन , ध्यान करता हूं।

54
What do you think you are still single ?
आपको क्या लगता है कि आप अभी भी सिंगल हैं?
Answer
मुझे तो हमेशा ही सिंगल रहना है ओर यह मुझे बेहद अच्छा लगता है।

55
What are three things you value most about a person ?
किसी व्यक्ति के बारे में आप किन तीन चीजों को महत्व देते हैं?
Answer
मधुर भाषी , सच बोलता हो , शांत स्वभाव

56
What is the greatest struggle you’ve overcome ?
आपके द्वारा सबसे बड़ा संघर्ष क्या है?
Answer
खुद के नकारात्मक विचारों को हटाने की कोशिश में लगातार प्रयास

57
Who was your favourite teacher and why ?
आपका पसंदीदा शिक्षक कौन था और क्यों?
Answer
किशन सर वह सामाजिक विज्ञान पढ़ाते थे ओर साथ साथ बहुत सारी नैतिक कहानियां भी सुनाते थे

58
What is weirdest things about you ?
आपके बारे में अजीब बातें क्या है?
Answer
मैं जोर जोर से हंसने लगता हू।

59
What food could you not live without ?
आप किस भोजन के बिना नहीं रह सकते थे?
Answer
ऐसा कुछ भी नहीं है जीवन को चलाने के लिए भोजन आवश्यक सामग्री है बस इतना ही

60
What your best birthday ??
आपका सबसे अच्छा जन्मदिन क्या ??
Answer
जब मै 31 साल का था।

61
When was the last time you told yourself that “I LOVE MYSELF”
जब आखिरी बार आपने खुद से कहा था कि “I LOVE MYSELF”
Answer
मै स्वयं को रोज ही बोलता हूं यदि आप खुद को प्रेम नहीं कर सकते तो दूसरो को कैसे करोगे

In last say few words for Me
मै बहुत साधारण जीवन को जीने पसंद करता हूं और खुद से बहुत प्रेम करता हूं।

Thanks
Rohit Shabd

दिल्ली

दिल्ली जो कि भारत की राजधानी है। भारत के चार महानगरों में से एक है। और एक ऐतिहासिक शहर भी है। दिल्ली महानगर में मुगल काल की भी कई विश्व विख्यात विरासते आज भी मौजूद है। इसी दिल्ली में 16वीं शताब्दी मे तब्दील हुई जामा मस्जिद लाल किला आज भी आकर्षण का केंद्र बने हुए हैं। वही पास ही में चांदनी चौक जैसा एक भव्य बाजार मौजूद है जिसमें कि तरह-तरह के व्यंजन पकवान वह हर तरह की खरीदारी के सामान उपलब्ध हो जाता है।    

    दिल्ली को तीन और से हरियाणा की सीमा लगती है, जबकि इस के पूर्वी छोर पर उत्तर प्रदेश की सीमा लगती है। यह राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र लगभग 573 वर्ग मीटर में फैला हुआ है। 2011 की जनगणना के अनुसार दिल्ली शहर की आबादी 11 मिलियन है जोकि मुंबई के बाद भारत का सबसे ज्यादा आबादी वाला शहर है।       

                                     अगर दिल्ली शहर की प्राचीनता की बात की जाए तो 10 वीं शताब्दी में यहां पर तोमर राजाओं का राज्य था। उन्हीं तोमर राजाओं का एक वंशज पृथ्वीराज चौहान था जिसने कि दिल्ली को अपनी राजधानी बनाया। और वही पृथ्वीराज चौहान दिल्ली का अंतिम हिंदू शासक था। उस पृथ्वीराज चौहान के बाद दिल्ली में लगातार तुर्क और मुगलों का आक्रमण होने लगा। जिसमें कि पृथ्वीराज चौहान के तुरंत बाद गुलाम राजवंश आया उसके बाद खिलजी, तुगलक , सैयद और लोरी राजवंश आए। यह सभी मुस्लिम शासक थे। इसके बाद अंत में पानीपत की लड़ाई में बाबर ने लोधी व राजवंश को हराकर दिल्ली में मुगलिया सल्तनत की नींव रखी। इसी मुगलिया सल्तनत में बाबर के बाद बाबर का वंशज हुमायूं आया जिसने की दिनपनाह महल जो कि आज के समय में पुराने किले के नाम से मशहूर है का निर्माण करवाया। और हुमायूं की मृत्यु भी उसी दिन प्रणाम महल में सीढ़ियों से गिरकर हुई थी।     

                अनेक दर्शनीय स्थल जैसे की कुतुब मीनार, सिकंदर लोदी का मकबरा, इंडिया गेट आदि कई विरासत ए आज भी मौजूद है।  

   अगर हम नई दिल्ली की बात करें तो नई दिल्ली को अंग्रेजों ने सन 1911 में अपनी राजधानी बनाया। अंग्रेजों ने भी दिल्ली में कई भव्य इमारतों का निर्माण करवाया। आज इतना भव्य इंडिया गेट हम देखते हैं असल में यह प्रथम विश्व युद्ध में शहीद हुए सैनिकों की विरासत के रूप में तैयार किया गया वह उन सैनिकों के नाम आज भी इंडिया गेट पर लिखे हुए हैं। उसके अलावा राष्ट्रपति भवन विधान सभा वह कनॉट प्लेस भी अंग्रेजों के द्वारा ही बसाई गई विरासत है।    

          आध्यात्मिक तौर पर भी दिल्ली शहर में काफी पुरानी विरासत ए रही है। सूफी संत निजामुद्दीन औलिया भी इसी दिल्ली में रहे हैं जिन्होंने दिल्ली में 15 राजाओं का शासन देखा और उन्हीं के शिष्य अमीर खुसरो जोकि तबले के अविष्कारक और खड़ी बोली के जनक भी हैं उन्होंने भी 10 राजाओं का शासन देखा वह उन 10 राजाओं के दरबार में रहे। उसके अलावा कुतुबुद्दीन बख्तियार काकी की मजार भी हमें महरौली क्षेत्र में देखने को मिल जाएगी राजा कुतुबुद्दीन ने इन्हीं के नाम पर कुतुब मीनार का निर्माण करवाया था।

Written by Pritam Mundotiya

सवाल ओर जवाब

Hi all these are few questions I’m asking to you please answer to these all question that’s kind of a conversation between you and me

1. Name
नाम

Ans. Arif Ali

2
School/collage/university
स्कूल / महाविद्यालय / विश्वविद्यालय

Ans. Satyawati College

3
Your age ?
आपकी उम्र

Ans. 18 years

4
What you do for survival ?
अस्तित्व के लिए आप क्या करते हैं?

Ans. Still I depend on my family

5
Do you like traveling ??
क्या आप घूमना पसंद करते है ?

Ans. Yes

6
What inspire you most in your life ??
आपको अपने जीवन में सबसे ज्यादा क्या प्रेरणा देता है ??

Ans. The indoctrinations of being a ” CIVIL SERVANT “

7
What you wanna be in your life ??
आप अपने जीवन में क्या बनना चाहते हैं ??

Ans. A permissive human

8
Am I who I want to be ?
क्या मैं वह बनना चाहता हूं जो मैं बनना चाहता हूं?

Ans. Yeah

9
What are you so afraid of ?
आपको किस बात का इतना भय है ?

Ans. I do not have any fear of any thing

10
What would you be doing if you had six month to live ?
अगर आपके पास रहने के लिए छह महीने हैं तो आप क्या कर रहे होंगे?

Ans. I would be spending my those time with my family

11
What do you hate ?
आप किससे घृणा करते हैं ?

Ans. Verily I hate untrue

12
Are you using your strength ?
क्या आप अपनी ताकत का इस्तेमाल कर रहे हैं?

Ans. I use my strength according to my needs

13
What will happen if you continue to live this way ?
अगर आप इसी तरह से जीते रहेंगे तो क्या होगा?

Ans. That depends on my present activities.  Future can be expected not predicted

14
When is the last time you’ve gone outside of your comfort zone ?
आखिरी बार आप अपने कम्फर्ट जोन से बाहर कब गए हैं?

Ans. Today

15
Is your health helping or harming your purpose in your life ?
क्या आपका स्वास्थ्य आपके जीवन में आपके उद्देश्य की सहायता या हानि कर रहा है?

Ans. It’s helpful

16
Are you moving in the right direction to achieve success in your life
क्या आप अपने जीवन में सफलता प्राप्त करने के लिए सही दिशा में आगे बढ़ रहे हैं

Ans. Yes

17
What do you do for fun ?
आप मस्ती के लिए क्या करते हो ?

Ans. Spend my some time with my friends

18
How much do you worry about what others think ?
आप इस बारे में कितना चिंतित हैं कि दूसरे क्या सोचते हैं?

Ans. In present 0%

19
What have been your biggest mistakes ?
आपकी सबसे बड़ी गलतियाँ क्या रही हैं?

Ans. Procrastination of my works

20
Your favourite place ?
आपकी पसंदीदा जगह कौनसी है ?

Ans. Library

21
Your favourite food ?
आपका पसंदीदा खाना क्या है

Ans. Whatever is cocked by my beloved mother

22
Your achievements in life ??
जीवन में आपकी उपलब्धियाँ ?

Ans. I have consience

23
Where you wanna see yourself after 10 year ?

Ans. In a district of any state of Indian as an IAS officer

24
What you think of life ?
आप जिंदगी के बारे में क्या सोचते है ?

Ans. The best teacher forever

25
Do you believe in religion ??
Yes/no
क्या आप धर्म में विश्वास रखते है ?

Ans. Yes 100%

26
Who is your role model ??
आपका रोल मॉडल कौन है ??

Ans. Prophet Muhammad ﷺ

27
What changes you wanna see in life ??
आप जीवन में क्या बदलाव देखना चाहते हैं ?

Ans. Unbounded love amongst the people of the world

28
Are you happy with life ??
Yes/No
क्या आप जिंदगी के साथ खुश है ?

Ans. Yeah

29
How you keep yourself happy
खुद को खुश रखने के लिए आप क्या करते है ??

Ans. Study because I am addicted to this

30
What you want to achieve in your life ?
आप क्या achieve करना चाहते है जिंदगी में ??

Ans. The Achievement of salvation when my family and every individual will be happy

31
What is your weekness ?
आपकी कमजोरी क्या है ???

Ans. My wrath

32
What’s your strength ?
आपकी ताकत क्या है ?

Ans. My knowledge

33
What makes you worried in your life
आप किस चीज या बात से डरते है

Ans. My wrath

34
Whats your philosophy in life ?
जीवन में आपका दर्शन क्या है?

Ans. Spreading love amongst the people around me

35
What’s the one thing you would like to change about yourself
वह कौन सी चीज है जिसे आप अपने बारे में बदलना चाहेंगे

Ans. Some of my bad habits

36
Are you religious or spiritual ??
क्या आप धार्मिक या आध्यात्मिक हैं ??

Ans. I enjoy both

37
Do you consider yourself on introvert or extrovert ??
क्या आप खुद को अंतर्मुखी या बहिर्मुखी मानते हैं ??

Ans. No thought on this

38
What was the best phase in your life ?
आपके जीवन में सबसे अच्छा चरण क्या था?

Ans. When I was in school life especially in 12th class . Wow that was such a phase I ever experienced

39
What was the worst phase in your life ?
आपके जीवन का सबसे बुरा दौर क्या था?

Ans. When I realized that now I have some responsibilities but after some time I adapted myself according to these because without responsibility a body is a dead soul

40
What’s your favourite book/movie of all time and why did it speak to you so much ?
आपकी सभी समय की पसंदीदा पुस्तक / फिल्म क्या है और इसने आपसे इतनी बात क्यों की?

Ans. So far I have not any favourite book/ movie

41
Are you more into looks or brain ??
क्या आप लुक या ब्रेन में अधिक हैं?

Ans. I am nominal in both as I love

42
How do you feel about sharing your password with your partner ?
आप अपने साथी के साथ अपना पासवर्ड साझा करने के बारे में कैसा महसूस करते हैं?

Ans. If faithful then there must be not problem in sharing password

43
When do you think a person is ready for marriage
आपको कब लगता है कि कोई व्यक्ति शादी के लिए तैयार है

Ans. No idea

44
What kind of parents do you think you will be ?
आपको लगता है कि आप किस तरह के माता-पिता होंगे?

Ans. Both strict and liberal

45
Have you ever lost someone close to you ?
क्या आपने कभी अपने किसी करीबी को खोया है?

Ans. Yeah

46
What’s an ideal weekend for you ?
आपके लिए एक आदर्श सप्ताहांत क्या है?

Ans. No idea

47
Do you judge a book by it’s cover ??
क्या आप इसे कवर द्वारा एक पुस्तक का न्याय करते हैं ??

Ans. No , Because this is against the humanity

48
Do you believe in second chance ?
क्या आप दूसरे मौके पर विश्वास करते हैं?

Ans. Yeah

49
What are you most thankful for ?
आप किसके लिए सबसे आभारी हैं?

Ans. Allah

50
What’s the one thing that people always misunderstand you ?
एक बात क्या है जो लोग हमेशा आपको गलत समझते हैं?

Ans. I do not hesitate when it comes to justice on the bedrock of truth

51
What did you past relationship teach you ?
पिछले रिश्ते ने आपको क्या सिखाया?

Ans. Hitherto I have not undergone any past relationship

52
If a genie granted you 3 wishes right now, what would you wish for ?
अगर किसी जिन्न ने आपको अभी 3 इच्छाएं दी हैं, तो आप क्या चाहते हैं?

Ans. a. A peaceful world alongwith my family ,
b. Everyone achieve to their licit aim , and
c. Longer life for my teachers Especially Mithilesh Yadav

53
What’s your biggest regret in life ?
जीवन में आपका सबसे बड़ा पछतावा क्या है?

Ans. I have done some wrong things which is against my religion and also that is against the spirituality

54
What do you think you are still single ?
आपको क्या लगता है कि आप अभी भी सिंगल हैं?

Ans. No , in an open relationship with UPSC for IAS

55
What are three things you value most about a person ?
किसी व्यक्ति के बारे में आप किन तीन चीजों को महत्व देते हैं?

Ans. 1. Their adaption towards their responsibilities ,
2. A good humour , and
3. Their view towards their spirituality or religion

56
What is the greatest struggle you’ve overcome ?
आपके द्वारा सबसे बड़ा संघर्ष क्या है?

Ans. Always faced every problem and tackled

57
Who was your favourite teacher and why ?
आपका पसंदीदा शिक्षक कौन था और क्यों?

Ans. Mithilesh Yadav and he is still my favourite teacher forever . He taught me how to be a good person in each an every field you will . There are so many things but let’s talk later about those .

58
What is weirdest things about you ?
आपके बारे में अजीब बातें क्या है?

Ans. I am what I want always

59
What food could you not live without ?
आप किस भोजन के बिना नहीं रह सकते थे?

Ans. I am not addicted of anything ( food )

60
What your best birthday ??
आपका सबसे अच्छा जन्मदिन क्या ??

Ans. 04/12/2018

61
When was the last time you told yourself that “I LOVE MYSELF”
जब आखिरी बार आपने खुद से कहा था कि “I LOVE MYSELF”

Ans. Every single day when I conquer my target

In last say few words for Me

Ans. You have a uniqueness that is always looking for something new that enhances your knowledge and so many things .

Thanks
Rohit Shabd

Answered by ARIF ALI .

61 प्रश्न जो पूछे गए बहुत सारे लोगो से

Hi all these are few questions I’m asking to you please answer to these all question that’s kind of a conversation between you and me

नाम- विनीता गिरि

२-स्कूल / महाविद्यालय / विश्वविद्यालय

-दिल्ली विश्वविद्यालय

३-आपकी उम्र
२६ वर्ष

४-अस्तित्व के लिए आप क्या करते हैं?
माता पिता पर निर्भर हू।

५-क्या आप घूमना पसंद करते है ?

  • बेहद

६-आपको अपने जीवन में सबसे ज्यादा क्या प्रेरणा देता है ??
-हर वह व्यक्ति तथा काम जो आपको एक उद्देश्य देता है मुझे प्रेरित करता है।

७-आप अपने जीवन में क्या बनना चाहते हैं ??
-एक कुशल प्रशासनिक अधिकारी।

८- क्या मैं वह बनना चाहता हूं जो मैं बनना चाहता हूं?

  • हां,बेशक

९-आपको किस बात का इतना भय है ?
किसी विशेष बात का नहीं।

१०-अगर आपके पास रहने के लिए छह महीने हैं तो आप क्या कर रहे होंगे?
-अपने परिवार तथा मित्रों के साथ कहीं घूम रही होंगी।

११-आप किससे घृणा करते हैं ?
-नकारात्मकता से

१२-क्या आप अपनी ताकत का इस्तेमाल कर रहे हैं?
-शायद १००% नहीं

१३-अगर आप इसी तरह से जीते रहेंगे तो क्या होगा?
-मैं वह प्राप्त करने में ज्यादा समय लगेगा जो मैं करना चाहती हूं।

१४-आखिरी बार आप अपने कम्फर्ट जोन से बाहर कब गए हैं?
-याद नहीं

१५-क्या आपका स्वास्थ्य आपके जीवन में आपके उद्देश्य की सहायता या हानि कर रहा है?
-स्वास्थ्य बिल्कुल सामान्य है

१६-क्या आप अपने जीवन में सफलता प्राप्त करने के लिए सही दिशा में आगे बढ़ रहे हैं
-हां,बिल्कुल

१८-आप मस्ती के लिए क्या करते हो ?
-कविताएं पढ़ती हू, games khelti hu

१८-आप इस बारे में कितना चिंतित हैं कि दूसरे क्या सोचते हैं?
-२०%

१९-आपकी सबसे बड़ी गलतियाँ क्या रही हैं?
-अपने आपको सबके लिए उपलब्ध रखना और खुद की प्रतिभा को ना पहचानना

२०-आपकी पसंदीदा जगह कौनसी है ?
-हर वो जगह जहां पहाड़ और नदियां हों,मुझे पसंद है।

२१-आपका पसंदीदा खाना क्या है
-घर पर बने खाने के अलावा काफी कुछ पसंद है।

२२-जीवन में आपकी उपलब्धियाँ ?
-गलतियां करना और उनसे सीखना

२३-Where you wanna see yourself after 10 year ?

  • devoted at people’s service as being an administrator.

२४-आप जिंदगी के बारे में क्या सोचते है ?

  • यही की “जीवन एक अखंड पर्व है,साधारण त्योहार नहीं है।

२५-क्या आप धर्म में विश्वास रखते है ?

  • हां,बिल्कुल

२६-आपका रोल मॉडल कौन है ??
-हर वह व्यक्ति जो अपने कर्मो के प्रति समर्पित है।

२७-आप जीवन में क्या बदलाव देखना चाहते हैं ??
-कोई भी बदलाव हो,बस सकारात्मक दिशा की ओर हो,मुझे स्वीकार है।

२८-क्या आप जिंदगी के साथ खुश है ?
-हां,बेशक

२९-खुद को खुश रखने के लिए आप क्या करते है ??
-नाचते हैं गाते है,अपने पसंदीदा लोगों से बात करते हैं,कविताएं पढ़ते है लिखते हैं,घूमते हैं।

३०-आप क्या achieve करना चाहते है जिंदगी में ??
-एक अच्छा व्यक्तित्व,जो खुश रहने और रखने में विश्वास करे।

३१-आपकी कमजोरी क्या है ???
-भावुक स्वभाव और आलस्य।

३२-आपकी ताकत क्या है ?
-भावुक स्वभाव जिसके कारण लोगों को समझने में आसानी होती है तथा स्पष्टवादिता।

३३-आप किस चीज या बात से डरते है
-नकारात्मकता और ठुकराए जाने से

३४-जीवन में आपका दर्शन क्या है?
-विश्वास,यदि विश्वास हो तो सब संभव और सरल है।

३५-वह कौन सी चीज है जिसे आप अपने बारे में बदलना चाहेंगे
-लोगों पर आसानी से विश्वास करने की आदत।

३६-क्या आप धार्मिक या आध्यात्मिक हैं ??
-हां।

३७-क्या आप खुद को अंतर्मुखी या बहिर्मुखी मानते हैं ??

  • समय और स्तिथि के अनुसार दोनों हूं।

३८-आपके जीवन में सबसे अच्छा चरण क्या था?
-हर वो दिन जो खुशी से जिया अच्छा था।

३९-आपके जीवन का सबसे बुरा दौर क्या था?
-अपने आप को अवसाद से घिरा पाना और उससे बाहर निकलने की जद्दोजहद एक कम अच्छा अनुभव था।

४०-आपकी सभी समय की पसंदीदा पुस्तक / फिल्म क्या है और इसने आपसे इतनी बात क्यों की?
-‘मधुशाला’, श्री हरिवंराय बच्चन जी द्वारा लिखी गई।
-क्योंकि यह मुझे जीवन के हर पक्ष के विषय से सरोकार करती हुई प्रतीत होती है।

४१-क्या आप लुक या ब्रेन में अधिक हैं?
-यह आप बताइए ,हम आपको ये दायित्व देते हैं

४२-आप अपने साथी के साथ अपना पासवर्ड साझा करने के बारे में कैसा महसूस करते हैं?
-मुझे कोई विशेष आपत्ती नहीं,यदि यह प्राइवेसी का विषय ना हो तो।

४३-आपको कब लगता है कि कोई व्यक्ति शादी के लिए तैयार है
-जब वह शादी के विषय में खुश रहकर जिम्मेदारी से अवगत होकर उसको स्वीकार करने के लिए खुद को सहज महसूस करे।

४४-आपको लगता है कि आप किस तरह के माता-पिता होंगे?
-उम्मीद है आप यह सवाल आप भविष्य में मेरे बच्चो से करें,मुझे ज्यादा खुशी होगी।

४५-क्या आपने कभी अपने किसी करीबी को खोया है?
-हां

४६-आपके लिए एक आदर्श सप्ताहांत क्या है?
-अपने परिवार और मित्रों के साथ शानदार समय बिताना।

४७-क्या आप इसे कवर द्वारा एक पुस्तक का न्याय करते हैं ??
-बिल्कुल नहीं।

४८-क्या आप दूसरे मौके पर विश्वास करते हैं?
-हां

49
What are you most thankful for ?
आप किसके लिए सबसे आभारी हैं?

-माता पिता के,हमें इस ख़ूबसूरत दुनिया का हिस्सा बनाने के लिए

50
What’s the one thing that people always misunderstand you ?
एक बात क्या है जो लोग हमेशा आपको गलत समझते हैं?
-यह लोग बेहतर बताएंगे

51
What did you past relationship teach you ?
पिछले रिश्ते ने आपको क्या सिखाया?
-खूब खुश रहना और खुशी बांटना

५२-अगर किसी जिन्न ने आपको अभी 3 इच्छाएं दी हैं, तो आप क्या चाहते हैं?
-खुश रहना और खुश रखना और खुश रखना

५३-जीवन में आपका सबसे बड़ा पछतावा क्या है?
-ऐसा कोई विशेष पछतावा नहीं है

५४-आपको क्या लगता है कि आप अभी भी सिंगल हैं?
-हां बिल्कुल

५५-किसी व्यक्ति के बारे में आप किन तीन चीजों को महत्व देते हैं?
-स्वभाव,स्वभाव और स्वभाव

५६-आपके द्वारा सबसे बड़ा संघर्ष क्या है?
अपना लक्ष्य प्राप्त करने के बाद उसको इंप्लीमेंट करना

५७- आपका पसंदीदा शिक्षक कौन था और क्यों?
-स्कूल में चंद्रप्रभा ma’am..kyoki vo apne kartvya ke prati samarpit thin

५८-आपके बारे में अजीब बातें क्या है?
-मूड swings are very frequent

५९-आप किस भोजन के बिना नहीं रह सकते थे?
दाल चावल

६०-आपका सबसे अच्छा जन्मदिन क्या ??
-every birthday was best

61
When was the last time you told yourself that “I LOVE MYSELF”
जब आखिरी बार आपने खुद से कहा था कि “I LOVE
MYSELF”

  • Abhi-abhi..”I LOVE MYSELF”

In last say few words for Rohit shabd
I love your positivity as i feel positive everytime i talk to you..thank you for being there in my life..

Thanks
Rohit Shabd

घूमने के फायदे

घूमने के फायदे

घूमने के फायदे 

घूमने का अर्थ है एक जगह से दूसरी जगह जाना यह साधारण भाषा में हम इसे स्थानांतरण भी कह सकते हैं। कभी-कभी तो बीमार व्यक्तियों के चिकित्सा के लिए भी चिकित्सक उनको स्थान परिवर्तन की सलाह देते हैं।

  एक जगह पर रहते रहते हम उस स्थान के आदी हो जाते हैं। स्थान बदलने पर जलवायु बदलती है, हवा बदलती है, पानी बदलता है।
 
  यह तो हुई मौसम की बात इससे अलावा हमें अलग-अलग जगह जाने से अलग-अलग जगह के रीति रिवाज तौर-तरीकों को जानने का मौका मिलता है।
 
ज्ञान केवल हमें किताबों से ही नहीं मिलता बल्कि हम जितने ज्यादा लोगों में बैठते हैं जितने ज्यादा लोगों से मिलते हैं उतना ही हमें ज्ञान मिलता है।
जितनी ज्यादा लोगों से हमारा मेलजोल होता है इतना ज्यादा ही हम दुनिया के तौर-तरीकों को आसानी से सीख पाते हैं।      
                    
    यह उसी प्रकार सत्य है जिस प्रकार के एक भरे पूरे परिवार में एक बच्चा बहुत जल्दी बोलना सीख जाता है वह सभी क्रियाकलापों को बहुत जल्दी सीख जाता है। मैं कुछ ऐसे लोगों को जानता हूं जो कि हिंदुस्तान में कई राज्यों में घूमे हैं और बिना किसी विशिष्ट ज्ञान के उन्हें भारत की कई अलग-अलग भाषाओं का ज्ञान भी है और साथ में वहां की परंपराओं को आसानी से समझ पाते है। दुनिया में अलग-अलग जगह जाने पर आपको अलग-अलग जगह के व्यंजनों का पता चलता है। अलग-अलग जगह के रीति-रिवाजों का ज्ञान होता है अलग-अलग जगह के लोगों की सोच का पता चलता है। अगर आप अपने जन्म से लेकर मृत्यु तक केवल एक ही जगह रहते हैं तो आपको कभी भी बाहर के समाज का ज्ञान नहीं हो सकता आप केवल कुएं के मेंढक की तरह बने रहेंगे।
   
आज के समय में बच्चों का यही तो हाल है कि वह घर से बाहर निकलना नहीं चाहते।
सभी का मन यही करता है कि सबकुछ घर बैठे-बैठे ही मिल जाए और तो और खेल खेलने के लिए भी कोई बच्चा बाहर नहीं जाना चाहता।
मोबाइल में या वीडियो गेम पर सारे खेल उपलब्ध है इससे उनका शारीरिक विकास भी रुक जाता है।     
 
हमने कई ऐसे महापुरुषों के बारे में पढ़ा है जिन्होंने पूरी दुनिया में भ्रमण करके पूरी दुनिया का ज्ञानार्जन किया। उसमें सबसे ऊपर तो नाम गुरु नानक देव जी का ही है जिन्होंने पैदल ही पूरी दुनिया की यात्रा की। जितना ज्यादा आप एक जगह से दूसरी जगह पर जाओगे आपको उतने ही ज्यादा समाज के बारे में जानकारी प्राप्त होगी।   
 
एक पुरानी कहावत भी है कि
             
“कोस कोस पर बदले पानी और 5 कोस पर बदले वाणी”।   
                              
       अर्थात हमारे देश में इतनी विविधता है कि हर थोड़ी ही दूर चलने पर पानी में विविधता जाती है और और थोड़ी दूर चलने पर लोगों की वाणी में विविधता जाती है अर्थात लोगों की बोली में अंतर आ जाता है।

Written by Pritam Mundotiya

मोबाइल फोन

मोबाइल फोन          

 
मोबाइल फोन भी टेलीफोन का ही एक दूसरा रूप है। टेलीफोन का अर्थ होता है दूरभाष यंत्र और मोबाइल शब्द का अर्थ होता है चलता फिरता हुआ, तो इस प्रकार मोबाइल फोन का अर्थ हुआ चलता फिरता हुआ दूरभाष यंत्र। प्राचीन समय में हमारे ऋषि मुनि अनंत समय तक साधनाएं किया करते थे और अपने विचार सैकड़ों किलोमीटर दूर बैठे व्यक्ति तक आदान प्रदान किया करते थे। जैसे कि आज के युग में हम टेलीपैथी के नाम से भी जानते हैं।

परंतु आज हमें इस कार्य के लिए कोई मेहनत करने की, कोई साधना करने की तथा समय व्यर्थ करने की जरूरत नहीं है। हमारे पास एक छोटा सा यंत्र जिसे हम  मोबाइल फोन कहते है वह ऐसा यंत्र है जिससे कि हम पूरे विश्व में कहीं भी किसी से भी कभी भी बात कर सकते हैं अपने विचारों का आदान-प्रदान कर सकते हैं। और जैसा कि हमने पौराणिक कथाओं में पड़ा है कि ऋषि मुनि लोग ध्यान लगाकर दूर बैठे व्यक्ति के बारे में भी देख लिया करते थे। आज इस कार्य के लिए हमें कोई ध्यान लगाने की जरूरत नहीं है। हमारे मोबाइल फोन में ही इस तरह के कार्य आसानी से हो सकते हैं। हम लोग वीडियो कॉलिंग या छायाचित्र के द्वारा किसी भी व्यक्ति से उसे देखते हुए बात कर सकते हैं। केवल एक छोटे से मोबाइल फोन की सहायता से , बस केवल हमें आवश्यकता है तो उसमें इंटरनेट सुविधा डलवाने की

           एक लंबे समय से हमारी सभ्यता में घड़ियां बांधने का प्रचलन चल रहा था। जब भी हमें समय देखना होता था तो घड़ी की ओर इशारा जाता था घड़ी की और हमारी नजर जाती थी परंतु आज के समय में इस मोबाइल फोन ने हमसे कलाई घड़ियों का प्रचलन भी बहुत ही कम कर दिया है।आज के समय में जब भी हमें समय देखना होता है हम मोबाइल फोन की तरफ एकदम से जाते हैं। यहां तक कि आजकल तो मौसम विभाग की खबरें भी मोबाइल फोन पर देख लिया करते हैं। छोटी बड़ी घटनाओं के लिए हम लोग केलकुलेटर यूज किया करते थे परंतु इस मोबाइल फोन ने  हीं उस कैलकुलेट का भी अब काम खत्म कर दिया है।
          
हमें डायरी लिखने के लिए एक डायरी नोटपैड और कलम की आवश्यकता होती थी परंतु आज के समय में डायरी के सभी फीचर्स हमें इस मोबाइल फोन में आसानी से उपलब्ध है, हमें अपने साथ में कोई डायरी लेकर घूमने की आवश्यकता नहीं है। याद कीजिए वह पुराने दिन जब लोगों के फोन नंबर हम डायरी में लिखा करते थे और वह टेलीफोन डायरेक्टरी आया करती थी जिसमें किस शहर के सभी जरूरी फोन नंबर लिखे होते थे, परंतु आज न जाने वह डायरेक्टरी कहां खो गई है। दुनिया भर की जानकारी हम पल भर में केवल एक इंटरनेट कनेक्शन की सहायता से हमारे फोन में ही देख सकते हैं।

इसमें मनोरंजन के लिए भी बहुत कुछ है। हां आज के समय में टेलीविजन का प्रचलन भी इसने काफी कम कर दिया है। हमें जो भी देखना होता है सीधा यूट्यूब ऑन किया और देख लिया,  चाहे आप को कुछ भी सीखना हो आप इस मोबाइल फोन की सहायता से बहुत आसानी से सीख सकते हैं।
अगर आप बेहतरीन खाना खाने के शौकीन है या खाना बनाने के तो आप आसानी से खाना बनाना भी इस पर सीख सकते हैं। आज के समय में आप दुनिया में कहीं भी जाएं आपको किसी से रास्ता पूछने की आवश्यकता नहीं है इस मोबाइल फोन ने आपको एक मैप की सहायता दी है जिससे कि आप आसानी से पूरी दुनिया के रास्ते की जानकारी पल भर में प्राप्त कर सकते हैं।

छोटे बच्चे हो या बड़े सभी के लिए मनोरंजन के साधन मोबाइल फोन पर उपलब्ध है।                                            परंतु इस मोबाइल फोन में कुछ अच्छाइयां है तो कई बुराइयां भी है। हमारे समाज कि काफी चीजें आज हमें देखने को नहीं मिलती। जब मोबाइल फोन नहीं था तो सभी बच्चे एक-दूसरे के साथ मैदान में खेला करते थे हस्ट पुष्ट  भी रहते थे और उनका स्वास्थ्य भी ठीक रहता था, जबकि आज के समय में सभी बच्चे सिर्फ मोबाइल फोन गेम्स में लगे रहते हैं जिससे उनकी आंखें भी कमजोर होती है और और शरीर भी कमजोर होता है। एक ही घर में रहते हुए हम एक दूसरे से बात नहीं कर पाते केवल इस मोबाइल फोन की वजह से।

इस मोबाइल फोन की वजह से हम आज इतने व्यस्त हो गए हैं कि बस पूछिए मत क्युकी इस बात आकलन करना अब बहुत मुश्किल हो चुका है।

कोई भी कभी भी आपको फोन कर देता है। चाहे सामने वाला किस भी  परिस्थिति में है इस से कोई मतलब नहीं। आप चाहे बाथरूम में हो या बेडरूम में यह कभी भी बज जाता है। कभी-कभी तो आधी रात में फोन बजता है तो इतना गुस्सा आता है कि बस क्या कहें। क्युकी दूरियां घत गई है कभी भी किसी को आपकी याद आती या कोई काम होता है तो बस बटन दबाए ओर आपसे बात करना शुरू आप व्यस्त है या नहीं इस बात का उन्हें क्या पता ??

सच्ची मित्रता इस फोन की वजह से खो गई है। वह सच्चे मित्र जो साथ रहा करते थे खेला खुदा करते थे आज न जाने कहां गुम हो गए हैं। आज इस मोबाइल फोन की सहायता से सोशल साइट्स पर हम चाहे हजारों मित्र बना ले परंतु एक सच्चा मित्र हमें देखने को नहीं मिलता है आज के समय के बच्चों में शायद इसी वजह से आज के समय के बच्चों में काफी सारी मानसिक बीमारियां भी पनप रही है। परीक्षाएं पहले भी होती थी बच्चे पहले भी पढ़ा करते थे, परंतु इस तरह के मानसिक विकार केवल आज के बच्चों में ही देखने को मिलते हैं।  

अंत में अपने शब्दों को विराम देते हुए केवल यही कहना चाहूंगा कि विज्ञान ने मनुष्य के जीवन को तो आसान किया है लेकिन कई सारी बुराइयां भी दी है।

किसी भी चीज में कुछ अच्छाइयां होती है तो कुछ बुराइयां भी होती है, यह केवल हम पर निर्भर करता है कि हम किसी भी वस्तु का या किसी भी चीज का कितने अच्छे से इस्तेमाल करना जानते हैं यह कितने अच्छे से इस्तेमाल कर रहे हैं। कोई भी वस्तु उसके लिए पात्र व्यक्ति के हाथ में ही शोभा देती है अपात्र व्यक्ति के हाथ में तो गलत ही होगा। आज के समय में हम छोटे-छोटे बच्चों के हाथ में मोबाइल दे देते हैं जो कि मुझे लगता है ठीक नहीं है। मुझे तो अपना स्कूल खत्म होने के बाद में मोबाइल मिला था और मेरा यही कहना है कि कम से कम विद्यालय जीवन में तो बच्चों को मोबाइल से दूर रखा जाए।         

  धन्यवाद

Written by Pritam Mundotiya

Corona covid 19

कोरोना कोविड-19 ऐसे वायरस का नाम है जो आज के समय में पूरे विश्व में तेजी से फैल चुका है कोविड-19 के संक्रमण की गति भी उसी तरह है जिस तरह एक छोटी सी चिंगारी पूरे जंगल में पलक झपकते ही आग लगा देती है कोविड-19 संक्रमण जानलेवा भी साबित हुआ है इससे कई लाख लोगों की मृत्यु हो चुकी है यह संक्रमण तेजी से फैलता है और यह वायरस हर वर्ग सभी व्यक्ति बूढ़े बच्चे जवान और प्रत्येक लिंक के व्यक्ति को अपने संक्रमण से प्रभावित कर उनके जीवन को आघात पहुंचा रहा है कोविड-19 का इतिहास बहुत पुराना है यह कोरोनावायरस परिवार का ही सदस्य हैं अगर हम इतिहास के तरफ रूख करें और अपने बीते हुए कल को याद करें तो करोना RNA वायरस के समूह का सदस्य है जो कि स्तनधारियों तथा पक्षियों में पाया जाता है।                                                                     यह वायरस संक्रमण फैलाता है (Respitatory infection)कहते है  जुखाम गले में दर्द और सांस लेने में दिक्कत आती है कोरोनावायरस जैसे कि ऐसे SARS , MERS ,  कोविड-19 है  इस वायरस के लक्षण अलग-अलग तरह के हैं यह वायरस Chicken pig cow  में भी अलग-अलग तरह के लक्षण पैदा करता है और ध्यान देने वाली बात यह है कि इस वायरस के लिए किसी तरह की वैक्सीन एंटीवायरल दवाई नहीं बन पाई है।   कोरोनावायरस का इतिहास बताता है इस वायरस का पहला आक्रमण 1930 में हुआ था जो कि जानवरों में फैला इसके चलते जानवरों को श्वसन संक्रमण फैला और इस और इसे आईवीबी के नाम से जाना गया और 4 साल और एमसी होने 1931 में यह जानकारी दी कि यह वायरस जानवरों में फैल रहा है और इस वायरस में जानवरों को शोषण संक्रमण हो रहा है यह वायरस जानवरों में नॉर्थ डकोटा में फैला था इसके बाद 1940 में दो और करो ना परी वार के वायरस ने जन्म लिया जो कि एमएचवी तथा टीजीवी के नाम से जाना गया कोरोना वायरस के बाद करो ना वायरस के नए सदस्य का जन्म हुआ और वह वायरस हुमन कोरोनावायरस था यह वायरस में आया और इसके चलते यूएसए और यूके में वायरस को एकांत में रखा गया इसके अलावा कोरोनावायरस 2003 में एस ए आर एस के तीन प्रकोप के बाद एशिया तथा विश्व में वायरस का प्रकोप शुरू हुआ उसे डब्ल्यूएचओ ने एक प्रेस रिलीज द्वारा बताया कोरोनावायरस 2019 कोविड-19 3:00 का एक विश्व प्रसिद्ध शहर वहां जहां पर एक व्यापार केट में मीट का व्यापार होता है वहां के इस मार्केट में जिंदा तथा मरे हुए दोनों प्रकार के जीवो का मीट मिलता है चाइना के नागरिकों द्वारा चमगादड़ को खाए जाने और जिंदा चूहों को खाए जाने के कारण कोविड-19 नामक वायरस की उत्पत्ति हुई क्योंकि चमगादड़ में हजारों तरह के वायरस होते हैं जो कि मनुष्य उन वायरस को जेल नहीं सकता मनुष्य के अंदर इन भयंकर वायरस से लड़ने की प्रतिरोधक क्षमता नहीं होती है इसलिए चमगादड़ तत्वों को भोजन में शामिल करने का नतीजा हम को भी के रूप में भुगत रहे हैं यह वायरस 2019 दिसंबर में चाइना के शहर वहान में फैला तथा चाइना में डब्ल्यूएचओ को इस वायरस से ग्रसित होने का मामला बताया तथा डब्ल्यूएचओ ने 31 दिसंबर को द्वारा की गई नामक वायरस फैल चुका है तथा इसकी कोई भी दवा एंटीवायरस नहीं है यह एक बीमारी है कोरोनावायरस कोविड-19 भारत विश्व स्तर पर कोविड-19 फैसले के बाद भारत में भी इस वायरस ने अपनी दस्तक दी तथा भारत भी इस वायरस की चपेट में आ गया भारत में कोविड-19 का पहला मामला 30 जनवरी 2020 को दक्षिण भारत के एक शहर केरला में आया इसके बाद भारत में ज्यादातर दक्षिण भारत में इसके बाद भारत में ज्यादातर दक्षिण भारत में कोविड-19 का प्रकोप बढ़ता ही गया तथा धीरे-धीरे दक्षिण भारत से उत्तरी भारत में भी कोविड-19 फैल गया भारत सरकार द्वारा कोविड-19 से बचने के लिए महत्वपूर्ण कदम उठाए गए भारत सरकार द्वारा पहला कदम था जनता कर्फ्यू देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी भारत देश को संबोधन करते हुए 22 मार्च को जनता कर्फ्यू की घोषणा करी तथा देश के प्रत्येक नागरिक ने इस कर्फ्यू का पालन किया इसके बाद कोविड-19 का खतरा देखते हुए भारत देश में पहला लॉकडाउन की घोषणा भारत सरकार सरकार द्वारा की गई जो कि 25 मार्च से 14 अप्रैल तक घोषित हुआ कोविड-19 के बढ़ते संकट तथा भयंकर महामारी तथा इसके बचाव के लिए किसी भी तरह की दवाई anti-drug के ना होने के कारण भारत ने चार लॉकडाउन लगे जो कि पहला 25 मार्च 14 मार्च दूसरा 15 अप्रैल से 3 मई तीसरा 14 मई 17 मई 31 मई थे यह लोग महामारी से बचने के द्वारा भारत सरकार द्वारा पूरे देश में लगाए गए का तरीका बहुत आसान व सरल दिखाई पड़ता है परंतु यह चार लोग अपने आप में वायरस से भी बड़ी महामारी बने महामारी तथा उनका भारत पर असर हमारी समस्या बनी में और भारत में भी अपनी समस्याओं को अपने साथ लाया पहला लॉकडाउन 1.0 के चलते देश में निषेध गतिविधियां योगदान की वजह से पूरे देश की देश की सीमाएं बंद कर दी गई सारी हवाई यात्राएं रोक दी गई अब देश में बाहर से ना कोई आ सकता था है ना कोई जा सकता है लॉकडाउन 2.0
देश के प्रत्येक राज्य में अपने राज्य की सीमा बंद कर दी ताकि किसी भी राज्य के नागरिक इधर उधर ना जा सके पॉइंट 3 पूरे देश में रेलगाड़ी बसे हवाई जहाज सब पर प्रतिबंध लग गया पूरे देश में प्रतिबंध लगने से परिवहन पूरी तरीके से बंद हो गया पॉइंट 4 देश की सारी गतिविधियों पर रोक लगा दी गई सारी सारे बाजार व्यापार बंद हो चुके थे किसी भी तरीके का बाजार बंद था सिर्फ दवा की दुकान राशन की दुकान तथा अस्पताल ही खुले थे परंतु इन अस्पतालों में भी कोविड-19 से सुरक्षित मरीजों से बुरा हाल था पॉइंट 5 सभी तरह की जगह निर्माण व्यापार बंद था सरकारी दफ्तर अस्पताल प्राइवेट लिमिटेड कंपनियां प्राइवेट उद्योग संबंध था पॉइंट 6 पूरे देश में सन्नाटा छाया था जीव जंतु सड़कों पर आ गए थे क्योंकि देश के किसी भी नागरिक को घर से निकलने की अनुमति नहीं थी कोई भी व्यक्ति किसी भी कार्य के लिए बाहर नहीं जा सकता था बीमारी दबाव आर अश्विन की खरीदारी करने के अलावा पॉइंट 7 प्रो दवाइयों की दुकानों के सामने 2 फीट की दूरी पर निशान बनाए गए थे अब इन्हीं गैरों में लोगों को खड़े होकर सामान लेना होगा देश में किसी भी तरह आपके जैसे सूरज सिनेमा समारोह पर प्रतिबंध था किसी भी व्यक्ति को बाहर ना निकलने की निकलने का आदेश था और किसी दवा अस्पताल राशन की की जरूरत की चीजों के लिए सिर्फ एक व्यक्ति ही घर से बाहर जा सकता था इन सब के कारण देश में
सभी तरह का व्यापार तथा मजदूरों का बच्चे बत्तर हाल हो चुका था गरीबों को गरीबों के पास खाने के लिए रोटी भी नहीं थी आम आदमी की जिंदगी में त्राहि-त्राहि हो गई थी मजदूर अपने घर नहीं जा सकते मालिकों द्वारा रोजगार से निकाले जाने के कारण मजदूरों का जीवन नर्क बन गया था इन्हीं कारणों से लाखों मजदूर पैदल ही भूखे अपने गांव की तरफ निकल पड़े सैनिकों के छोटे बच्चे के चलते हुए अपनी जान से हाथ धो बैठे हो ना काल महाकाल साबित हुआ सबसे ज्यादा बुरा हाल रोज खाने कमाने वालों पर हुआ परंतु इस करो ना के प्रकोप में महा मध्यमवर्ग भी और संपन्न वर्ग भी नहीं बच पाया हर व्यक्ति का बहुत बुरा समय
सरकार द्वारा उठाए गए कदम सरकार ने गरीब लोगों को ज्यादा से ज्यादा राशन देने की कोशिश करें सरकार द्वारा प्रत्येक गरीब वर्ग को मुक्त राशन बांटा गया इस महामारी के काल में पूरे भारत की अर्थव्यवस्था डगमगा गई मंदी का दौर वापस आ गया इसके चलते सरकार ने श्रमिक वर्ग के लिए 170000 करोड का राहत पैकेज निकाला ताकि श्रमिकों को कुछ राहत मिल सके इसी के चलते सरकार ने 20 लाख करोड़ के राहत पैकेज की घोषणा करी सरकार द्वारा श्रमिकों के छोटे व्यापारी मध्यमवर्ग श्रमिकों को कामकाज के लिए दोबारा से शुरुआत करने का प्रोत्साहन मिला सरकार द्वारा मुफ्त का राशन बांटने का सिलसिला बढ़ता रहा था कि देश का कोई भी वर्क भूखा ना मरे लॉकडाउन के चलते सरकार द्वारा शिविर लगाए गए खाना पकाकर बांटा गया बनाई गई ताकि किसी को भी ना हो कोई व्यक्ति भूख से ना मरे सरकार ने प्रत्येक व्यक्ति को संक्रमण से बचाने के लिए निर्देश देगी से कोरोना से बचने के लिए राहत निर्देश जारी किए सभी व्यक्ति मार्क्स लगाने के निर्देश दिए गए सभी व्यक्तियों को निर्देश दिए गए जरूरी काम से ही बाहर निकलने के निर्देश दिए जाने लगे अपने आप को करो ना के संक्रमण से बचाने के लिए सोशल डिस्टेंसिंग आयुर्वेदिक दवा गाड़ी की विधियां बताई गई हाथ साफ करना सैनिटाइजेशन करने के निर्देश दिए गए सरकार द्वारा कौन बना सरकार द्वारा कोविड-19 से देश के प्रत्येक व्यक्ति को बचाने में एक प्रयास यह भी था कि देश में बीमार तथा स्वस्थ लोगों का वर्गीकरण करना सरकार द्वारा इस महामारी के खिलाफ उठाया गया एक कदम था रे ड्रोन ड्रोन वह दौर था जिससे उसका अधिकतर लोगों अधिकतर लोग महामारी से पीड़ित थे उसे राज्यों की श्रेणी में डाला गया रेड जोन को पूरी तरीके से सील कर दिया गया रेड जोन का कोई भी व्यक्ति अपने घर बाहर नहीं जा सकता राशन का दवाई की सुविधा आपको अपने घर पर मिलेगी रेड जोन का मतलब सबसे ज्यादा प्रभावित क्षेत्र और जोखिम का जोखिम भरा क्षेत्र है ऑरेंज ऑरेंज और रेड जोन के मुकाबले जोखिम स्थिति कम होती है वहां संक्रमण का खतरा होता है और जो व्यक्ति का राशन दवाई का में बाहर जाने की अनुमति होती है का पालन करते हुए तथा करना जरूरी है गिरिडीह में आता है जहां महामारी का खतरा बहुत ही कम या ना के बराबर होता है उसे ग्रीन कहते हैं परंतु विभीषण का पालन करना जरूरी है एक ही है कि प्रत्येक व्यक्ति को बचाना है सरकार द्वारा पूरे क्षेत्र कंटेंटमेंट जोन घोषित करना करो ना के मरीजों के लिए अस्पताल में ज्यादा से ज्यादा इंतजाम करना सैनिटाइजेशन पर तथा मार्क्स पर कालाबाजारी पर रोकथाम निजी अस्पतालों को कम से कम फीस पर कोविड-19 का टेस्ट व इलाज करने का निर्देश देना व्यापारियों कंपनियों के मालिक मकान मालिकों पर किसी भी तरीके के अनुशासनहीनता पर रोक लगाना यह सभी कदम व्यक्तियों को महामारी के प्रकोप से बचाने के लिए सरकार द्वारा उठाए गए आज के समय में विश्व बैंक पर भारत कोविड-19 ग्रसित देशों में तीसरे नंबर की श्रेणी में आ गया है पहले नंबर पर दूसरे नंबर पर भारत है आज की तारीख में भारत में 7 से ज्यादा लोग बनाने में लगे हुए हैं और इसमें भारत का नाम भी शामिल है भारत की दवा बनाने में जुटी हुई है इसी के साथ-साथ सरकार द्वारा भारत को अनलॉक करने के लिए शुरू हो गई है धीरे-धीरे सभी व्यवसाय खुलने लगे हैं फिर से सभी व्यक्तियों को रोजगार मिलने लगा है दो अनलॉक हो चुकी है 1 जून से 30 जून 1 जुलाई से 31 जुलाई हम सभी आशा करते हैं भारत के साथ-साथ पूरे विश्व को कोविड-19 जल्द से जल्द महामारी खत्म हो हमारे देश और विश्व में शांति बनी रहे।

Written By Utkarsha

Change

Change

CHANGE

Change is a law of life, the only unchanging law it is often said. But we are in a time-frame right now n which change is accelerating its pace as in no other recorded historical time. A dominant factor in that change is the rapid crumbling of the apparent barriers between the physical and metaphysical sciences and the new openness of people on all levels to consider things which would have been unthinkable just a short time ago.


Besides the obvious changes one notices in the newspapers and magazines, there are a myriad of things going on which never reach broad public attention. Some of them sound minor on the surface, but the significance is profound to those who can see the implications.

A Harvard professor of psychology goes to India to learn meditation. A famous astronaut, one of the first to walk on the moon, states that future interplanetary journeys should be done by astral travel. A traditional archeologist turns his attention to Atlantis. U.S. Marines use dowsing rods to locate tunnels. Literally thousands of people every year – ordinary, everyday, next-door-neighbor type of people – are joining mind control groups and experiencing and utilizing psychic abilities. As a personal experience, a short time ago I gave a demonstration at a shopping center in North Hollywood. Hundreds of shoppers with zero knowledge of psychic phenomena saw their own auras, successfully used a dowsing rod, and actually felt the energy emanations from mana generators. Actually, that was less amazing than the fact that I was allowed to put on the demonstration.


Yes, great change is coming, but of what kind? Doom-and-gloom psychics are having a field day predicting the end of the earth (or at least of California), seeing the changes as physical earth changes of a destructive nature. Others point out the inhuman (?) nature of current wars, the glut of resurrected Christs, the decline of formal religion, and the modification of the moral code and say that Armageddon is at hand and we had better be ready to flee to the hills and wait out the time of dark chaos that is fast approaching. After that, all the “good guys” (you and me) will be called down to help rule the world under the banner of a god who has come down out of the sky to force us all to be decent folk. Or a variation has it that it’s too late and the world is just going to go kaput!


I would like to point out a few things. First of all, at no time in the present recorded history of man has there been as much altruism between totally different peoples. Consider the fact that an earthquake in Peru, an epidemic in Africa, a hurricane in Bangladesh result in free, unqualified aid in the form of clothing, medicine, and supplies from all over the world. Former enemies make peace and cooperate. Nations join together to form organizations to socially and economically help other nations. Vast organizations of private individuals do the same. We tend to take this all for granted, but it was virtually unheard of before World War II. Yes, there are still ugly wars, but there have always been ugly wars, some far, far worse than what we think of as bad today. Yet, there has never been such an outpouring of good works. We still have wars, but we also have good works now. That sounds like progress to me.


Next, you must understand that many modern prophets can’t read their own symbolism, and when they can, they often exaggerate it. An earthquake in a vision is almost invariably a symbol of great mental change, usually in the life of the visionary himself. One modern psychic also predicted a polar shift that would devastate the world at a particular time. The time came and went and nothing apparently happened. Later it was found out that there was a shift, but so minute as to have virtually no effect on anything. The socially-oriented psychics who are predicting great earth changes are really predicting great changes in consciousness and attitudes, and the destruction of old ways of life.


Do not forget that we create our own reality. This is our world, and it will not be totally destroyed until all our high selves get together and agree that we don’t need it anymore. I hope this doesn’t disappoint too many of you, but Christ is not going to come swinging down on a white cloud to rule the earth for us. Armageddon and the coming of Christ are symbolic of inner struggle and the realization of union with the High Self. Both occur individually for each one of us. The world will only change as we change ourselves.

Written by Arif Ali

जीवन क्या है ?

जीवन क्या है?

जीवन क्या है?          

आज के समय में आधुनिक मनुष्य का जीवन केवल खाना पीना और सोना ही रह गया है।  इसके विपरित जीवन में से नैतिकता और नैतिक विचार जैसे गायब ही हो गए हैं। आज का मनुष्य ना तो साहित्य पढ़ने में इच्छुक है और ना ही सामाजिक क्रियाकलापों में भाग लेने का इच्छुक है।

हमने जितने भी महापुरुषों की जीवनी पढ़ीं है वह सभी महापुरुष केवल अपने लिए ना जी कर समाज के लिए जिए है तथा  अपना सारा जीवन देश, समाज व मनुष्य जाति के लिए समर्पित कर दिया परंतु आज का मनुष्य ना तो स्वयं को ही ठीक से रख रहा है ना ही स्वयं के ही नैतिक मूल्यों पर खरा उतर रहा है और ना ही देश समाज वह दूसरों के लिए कुछ कर पा रहा है, या फिर करना ही नहीं चाहता वह सिर्फ अपने लिए ही जीवन जीना चाहता है जैसे स्वार्थ से भर चुका हो आज मनुष्य

   आज के समय की भाग दौड़ भरी जिंदगी में मनुष्य मात्र एक इंजन से चलने वाली गाड़ी की तरह रह गया है जो कि सिर्फ खाना खाता है और बचे हुए अपशिष्ट पदार्थ को शरीर से बाहर निकाल देता है। फिर खाना खाता है और फिर
   काम से थकता है तो से जाता है । केवल यही आज के मनुष्य की दिनचर्या बन गई है ना तो आज का मनुष्य परिवार को समय दे पाता है और ना ही वह समाज प्रकृति के प्रति कुछ कर पाता है।
    हमें भी उन महापुरुषों की जीवनी अब पढ़नी चाहिए और उनसे प्रेरणा लेकर देश के लिए इस समाज के लिए हमारे पर्यावरण के लिए प्रकृति के लिए कुछ करना चाहिए अपने आप को प्रकृति के साथ चलाना चाहिए।
खाने-पीने और सोने से हटकर हमें हमारे परिवार , हमारे देश हमारे समाज में प्रकृति के प्रति भी हमारी कुछ जिम्मेदारियां हैं।

पारिवारिक जीवन:-   
हमारे जीवन में हमारे पारिवारिक जीवन का भी बहुत बड़ा रोल होता है परिवार दुनिया की सबसे छोटी परंतु महत्वपूर्ण इकाई है। मनुष्य जो कुछ भी सीखता है। सबसे पहले अपने परिवार से ही सीखता है परिवार से ही मनुष्य के अंदर उसके स्वभाव की झलक आती है।     
         
मनुष्य का स्वभाव:  
मनुष्य को अपने स्वभाव का निरंतर ध्यान रखना चाहिए  और बोली में मिठास रखनी चाहिए,  अहंकार से दूर रहना चाहिए  चाहे हम कितनी भी तरक्की क्यों ना कर ले परंतु हमें अपने समाज में ही बने रहना है। देश दुनिया में हम जहां भी रहते हैं जिन लोगों के बीच रहते हैं वही सब हमारा समाज होता है। अगर हमारा स्वभाव हमारे समाज के अनुकूल नहीं है तो हमें कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ता है ।मनुष्य अकेला ही सब कुछ नहीं कर सकता। मनुष्य के अपने जीवन निर्वाह की आवश्यकता के लिए समाज की जरूरत होती है। क्युकी हम सभी एक दूसरे से जुड़े हुए है एक दूसरे पर निर्भर है
                        

  समाज से बढ़ती दूरियां:
आज का मनुष्य समाज से दूरियां बनाता जा रहा है और अकेले रहने के लिए मजबूर है छोटे-छोटे फ्लैट्स में अकेला रहता है,  घर परिवार से दूर बड़े शहरों में अकेला रहता है। कोई काम की तलाश में, कोई रोजगार की तलाश में तो कोई पढ़ाई के लिए।
अकेला रहने की वजह से और समाज से दूर होने की वजह से ही मनुष्य को आज के समय में न जाने कितने मानसिक तनाव और मानसिक बीमारियों ने घेर लिया है। 
      
                   शारीरिक स्वास्थ्य:  
मनुष्य को कोई भी कार्य के लिए सबसे प्रथम अपने शरीर पर ध्यान देना बहुत जरूरी है। हमारे शास्त्रों में भी वर्णन है “प्रथम सुख निरोगी काया”
जिस मनुष्य में शरीर स्वस्थ होता है उसी के शरीर में स्वस्थ बुद्धि का निवास होता है। शारीरिक स्वास्थ्य के लिए हमें थोड़ा बहुत व्यायाम भी करना आवश्यक है अगर खुली हवा में सांस लेना प्राणायाम करना या कोई भी शारीरिक गतिविधियों में हमें लगे रहना चाहिए। आज की भाग दौड़ भरी जिंदगी में हमें थोड़ा समय अपने स्वास्थ्य के लिए भी निकालना चाहिए शरीर स्वस्थ होगा तभी हम कोई भी कार्य कर पाएंगे। आज के समय में छोटी-छोटी बीमारी होने पर छोटा-छोटा मौसम बदलने पर हम बीमार पड़ जाते हैं हमारे शरीर की रोग निरोधक क्षमता भी बहुत कमजोर हो गई है जिसकी वजह से हम जल्दी जल्दी बीमार ही जाते है।   
                                      

                  मानसिक स्वास्थ्य:
   शरीर के साथ-साथ मनुष्य को अपने मस्तिष्क का भी ध्यान रखना चाहिए ,  मानसिक स्वास्थ्य का भी हमारे जीवन में एक बहुत बड़ा महत्व है। आज के समय में मनुष्य को बहुत सी मानसिक बीमारी और मानसिक तनाव ने घेर लिया है।  माना की साधारण मनुष्य और मानसिक बीमारी को पागलपन समझता है परंतु ऐसा नहीं है , मन , मस्तिष्क स्वस्थ तो तन भी स्वस्थ रहता है।

#Written by Pritam Mundotiya