Posts in जिंदगी

वर्ल्ड कप 2019 का फाइनल मैच

वर्ल्ड कप फाइनल 2019 का आख़िरी मैच जिसको सभी देश रहे थे क्युकी इस बार इतिहास के पन्नो पर एक नया नाम आना था जो अब से पहले कभी नही हुआ पहले भी ऐसा हुआ है कि जो एक ऐसी टीम जो वर्ल्ड कप कभी नही जीत पायी परंतु फाइनल तक पहुँची है लेकिन इस बार बात और अलग हो गयी इस बार आमने सामने दोनो ही ऐसी टीम जो आज तक कभी भी फाइनल नही जीती जिनहोने कभी वर्ल्ड कप नही उठाया था।

इसलिए इस बार लोगो मे ज्यादा उत्साह था और हुआ भी कुछ इस बार के वर्ल्ड कप फाइनल मैच में

क्रिकेट अनिश्चित घटनाओं का खेल है कब क्या होगा? यह किसी को नही पता इस खेल में

इस बार वर्ल्ड कप प्रतियोगिता राउंड रोबिन जिसमे सभी टीमें एक दूसरे के साथ खेलती है इस बार प्रतियोगिता में 10 टीम थी

यह 2019 का 48वा मैच था ओर आखिरी मैच था।

वर्ल्ड कप फाइनल का मैच बिल्कुल ऐसा की आप नाखून चबाने लग जाए यह मैच बहुत कमजोर दिल वालो के लिए बिल्कुल नही था।

इस बार फाइनल में दो ऐसी टीम पहुँची जो कभी वर्ल्ड कप नही जीती थी अब दो में से एक ऐसी टीम को वर्ल्ड कप की ट्रॉफी मिलनी थी जो पहले कभी नही जीती थी एक नया विश्वविजेता इस दुनिया को मिलना था।

इंगलेंड और न्यूजीलैंड इन दोनो टीमो ने इस मैच को जितने के लिए सबकुछ कर डाला , किसी भी समय ऐसा प्रतीत नही हुआ की मैच एक तरफ का है, पूरी तरह से कांटे की टक्कर थी और लगातार खेल में रोमांच बना हुआ था।

मैच के आखिरी ओवर में एक ओर ऐसा ट्विस्ट हुआ जो इंग्लैंड के लिए जीत में बदल गया मार्टिन गुप्टिल ने थ्रो कर विकेट की और मारा तो बेन्स्टॉक के बल्ले से लगा जो बाउंडरी के पर हो गया जिस वजह से इंग्लैंड को 2 रन भागने पर ओर 4 रन ओवरर्थ्रो के मील टोटल 6 रन जो इंग्लैंड को जीत के ओर करीब ले गए अगर क्रिकेट की रूल बुक में यह 5 रन होने चाहिए थे।

मैच आखिरी बॉल तक किसी के पाले मैं नही रहा और मैच टाई हुआ पहले खेलकर न्यूजीलैंड की टीम ने 241रन बनाये और इंग्लैंड ने भी 241 रन बनाये इस वजह से मैच टाई हुआ और अब सुपर ओवर होना था।

फिर दुबारा सुपर ओवर के द्वारा मैच का निर्णय होना था जिसमे पहले इंग्लैंड खेली ओर 6 बॉल पर इंग्लैंड ने 15 रन बनाये और दूसरी 6 बॉल न्यूजीलैंड ने खेली ओर न्यूजीलैंड ने 6 बॉल पर 15 रन बनाये इस वजह से सुपर ओवर भी टाई हुआ

अब मैच का फैसला उस आधार पर होना था जिस टीम ने अपनी एक इनिंग में सबसे ज्यादा चौके मारे थे और इसमें इंग्लैंड की टीम ने सबसे ज्यादा चौके मारे जो 24 थे और न्यूजीलैंड ने 16 चौके मारे तो इस लिहाज से न्यूजीलैंड की टीम हार गयी 8 चौके कम होने पर न्यूजीलैंड की हारी और इंग्लैंड की टीम विश्वविजेता बन गयी।

ऐसा पहली बार हुआ है की इंग्लैंड की टीम वर्ल्ड कप जीती।

इससे पहले ज्यादातर वर्ल्ड कप के फाइनल मैच एक तरफा मैच रहे जैसे की पिछले वर्ल्ड कप में भी हमने देखा न्यूजीलैंड की टीम फाइनल में थी परंतु ऑस्ट्रलिया ने आसानी से वो मैच जीत लिया था।

वर्ल्ड कप का फाइनल मैच सबसे यादगार मैच बना क्रिकेट के इतिहास में यह और भी यादगार हो सकता था यदि वर्ल्ड कप की ट्रॉफी का विजेता इन दोनो टीमो को बना दिया जाता क्योंकि देखा जाए तो कोई भी टीम नही हारी। फैसला हुआ बाउंड्रीज के आधार पर जिसकी सबसे बाउंड्रीज वो टीम विजेता

वो अंत में इंग्लैंड को विजेता घोषित किया गया

इस फैसले से बहुत सारे क्रिकेट के समर्थक नाराज हुए और बॉलीवुड सिनेमा के बड़े बड़े कलाकार ने भी इस फैसले का विरोध किया।

Amitabh bachchan T 3227 – आपके पास 2000 रूपये, मेरे पास भी 2000 रुपये,
आपके पास 2000 का एक नोट, मेरे पास 500 के 4 …
कौन ज्यादा अमीर???

ICC – जिसके पास 500 के 4 नोट वो ज्यादा रईस..
#Iccrules😂😂🤣🤣
प्रणाम गुरुदेव
Ef~NS

बड़ी प्यारी है जिंदगी

ना तड़पाओ ना रोने दो बड़ी प्यारी है जिंदगी , इसे खिलने दो जरा यह खिलना चाहती है क्योंकि खिलखिलाती सी है जिंदगी।

अपनी मुस्कुराहट को कही खो मत जाने दो यह मुस्कुराती हुई है जिंदगी इसके साथ खेलो, कूदो बड़ी गुदगुदाती सी है यह जिंदगी

ना अपनी मंजिल का पता है ना ठिकाने का बस चले जा रहा हूं

कुछ खास नही बस हर लम्हे में इस तरह से जीने की आदत हो गयी है जैसे अब समय कही नही है। बस चलते ही जा रहे है ना कोई बंधन है ना कोई रोक टोक , ना कोई सीमा

जीवन तो स्वत् चल रहा है आप चलो या फिर ना चलो यह गतिमान की अवस्था में है आप किसी दौड़ का हिस्सा नही होना चाहते फिर भी जीवन आपको बहा कर ले जा रहा है अपने साथ, क्योंकि आपका खुद पर कोई नियंत्रण नही है
समय और परिस्थितिया आपको नियंत्रित कर रही है।

यदि आप भीतर से खुद के साथ प्रवाहित है खुद के लिए तो बस फिर जीवन आपको आपके अनुसार ही आपको लेकर जाएगा फिर आप उस दौड़ में नही होंगे जिसमे पूरी दुनिया भाग रही है और सिर्फ भागना चाहती है परंतु किसी से पूछे तो कोई नही बताता क्यों भाग रहा है भाई ?

उनको “ना अपनी मंजिल का पता है ना उस ठिकाने का” की उनको जाना कहाँ है? और वे जानने की कोशिश भी नही करते की हम कहाँ जा रहे है क्यों जा रहे है ? बस समय और परिस्थितितयो के साथ बहते जाते है।

लेकिन बस वो पागलो की भागता ही रह है क्यों बाकी के लोग भी उसी तरह से भाग रहे है जीवन आपके अनुसार चले आप जीवन के अनुसार ना चले समय तो गतिमान है उसे चलने दे जैसे वो चल रहा है आप अपनी चाल को नियंत्रित रखे और सजग रहे जितने सजग आप होंगे उतना ही नियंत्रित आपका जीवन भी होगा जिसकी डोर आपके हाथ में होगी

जब आप हाइवे पर गाड़ी चला रहे होते हो तब आपको लगता है कि गाड़िया कितनी तेज़ चल रही है उसी वक़्त आपको भी लगता है की गाड़ी उतनी ही तेज़ी से चलाई जाए और आगे निकल जाए वरना कोई पीछे से टक्कर ना मार जाए और यदि आप साइड में चल रहे तो कोई आपको परेशान नही करता लेकिन एक आनन्दित सा लगता है बहुत धीमी रफ्तार लोग निकल रहे है आगे, फिर भी एक अलग मजा होता है उस एक तरफ चलाने का और लोगो को देखने का की बस लोग निकल रहे है। और हम अपनी मस्ती में बस चलते ही जा रहे है

लोगो को निकालने दो वो उनका सफर है आपका सफर है साइड में आराम से देखकर चलना मतलब सजग रहना जीवन के प्रति वही सम्पूर्ण आनंद है हर एक पल को आनन्दित होकर जीना यही लक्ष्य है हमारा , आन्नद सम्पूर्ण आनंद लेना जीवन को पूर्णतया से जीना

बस जीवन एक लहर की तरह बह रहा है जिसका छोर खुद ब खुद अंत पा लेंगा , ना कुछ पाने की तम्मना है और ना ही कुछ खोने का डर बस जीवन हो चुका है एक मधुर सफर।

जीवन को बदल देने वाले विचार

कुछ ऐसे विचार जो हमारे पुरे जीवन का दृश्य बदल देते है

जैसा आप सोचते है वैसे ही आप होते जाते है आपके जीवन पर आपकी सोच का प्रभाव पड़ता है प्रतिदिन लाखो ही विचार आपके मस्तिष्क में आते और जाते है उनमे से आप कितने विचारो पर गौर करते है यह महत्वपूर्ण है और जिन पर नहीं करते उनका भी प्रभाव आपके जीवन पड़ता है परंतु कम लेकिन असर कम हो ज्यादा असर तो असर है छोटा या बड़ा उसका प्रभाव ही जीवन की दिशा और दशा बदल देता है हर समय आप कौनसे विचारो के साथ जीना चाहते हो आपके जीवन के लक्ष्य क्या है जो आपको प्राप्त करने है यदि आपके विचारों में भटकाव है तो क्या आप अपने लक्ष्य तक पहुँच सकते ? नहीं आपको अपने लक्ष्य तक पहुचने के लिए अपने विचारों को एक ही दिशा की अग्रसर करना होगा

हमने बहुत सारे विचार पढ़े और समझे तथा शेयर भी किये।यदि आपने उन्ह विचारो पर अपनी असल जिंदगी में कोई कार्य नहीं किया तो वो सभी विचार कही बह जायेंगे जिनका फिर कोई मोल नहीं होगा आपके जीवन में। लेकिन अब इन विचारो को अपने जीवन का एक हिस्सा बनालो जिनसे आपकी पूरी जिंदगी परिवर्तित हो सकती है। क्योंकि सिर्फ आप खुद अपनी जिंदगी को बदलने में सामर्थ्य रखते है दूसरा कोई और नहीं। यदि आप इन् को मन्त्र की तरह रोज अपने जीवन में प्रयोग करेंगे तो अवश्य ही आप अपने जीवन अद्भुत परिवर्तन देखेंगे।

कौन हूँ मैं ?
मैं कौन और क्या होना चाहता हूँ ? यह आप पर निर्भर करता है यह आपका जीवन है जिस प्रकार से आप अपने जीवन के बारे में सोचेंगे उसी प्रकार से आप स्वयं का जीवन बना सकते है

मैं ऊर्जा हूँ

मैं बलवानो का बल हूँ