मै और तुम

ये जो
मेरे और तुम्हारे
ख्वाब थे ना
उन ख्वाबो की
मंजिल जो
है ना
मैं और तुम से
“हम”
तक का एक सफर है

मै और तुम

Leave A Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *